Thursday, December 14, 2017

गुरु कृपा ओर इष्ट कृपा होती है क्या

आध्यात्मिक मे जब तक आप अपने इष्ट ओर गुरु कृपा से पुणे मंत्र विधान ओर क्रिया ना कर लो
मणिकणिका घाट
जब तक किसी का आश्वासन ना दे ना किसी की क्रिया का काट करे क्योंकि गुरु मंत्र आपका बह्मास्त्रा हो सकता है पर परिवार वालो का नही ये शक्तियां अच्छी भी होती है बुरी भी इसलिए आध्यात्मिक या तंत्र मे अगर आप सांसारिक ओर आध्यात्मिक मे जी रहे है तो दो चीजो का आप हमेशा ध्यान रखे पहली अपनी ओर अपनो की सुरक्षा दुसरी अपने घर बार की सुरक्षा अगर गुरु पदाति से कुछ क्रिया या मंत्र मिला हो तो उसका मानसिक जप ओर क्रिया कम से कम महीने मे एक बार अपने घर ओर कारोबारी वाली जगह पर होनी चाहिए या जब तक पहले अपने भौतिक जीवन की सारी सुविधा को पुणे कीजिये फिर आध्यात्मिक मे पुरी तरह से आ जाये ओर जितना सुरक्षा मंत्र ओर गुरु मंत्र का जाप ओर अनुसरण जितना हो सके करे उतना ही अच्छा है बाकी गुगल गुरु कई मिलेगे पर एक से बढकर एक भविष्यवक्ता पर गुरु ग्यान ओर क्रिया कही से नही मिलेगी यही सत्य है,,
भविष्य वाणी जिसकी फेल हो जाये ओर साल दो साल मे जो भविष्यवक्ता हो ,तो कहना ही क्या जो आजकल कई भविष्यवक्ताओ को हम फेसबुक ओर वाटसअप पर देख चूके है कई बंदे ने सौ से ज्यादा भविष्यवाणीयाँ  की होगी पर जिसमे मे से मौसम की जानकारी जी टीवी न्यूज मे होती है वो ही सत्य साबित हुयी इसके अलावा अपनी पोस्ट को जो भविष्यवाणी फेल होते ही खुद रिमुव करते उनका तो कहना ही क्या गुरु कृपा ओर गुरु भक्ति मे रात दिन का फर्क है जो गुरु भक्ति को समझा वो ही शिष्य जो प्रचार मे रहा ओर जो शिष्य नही माने उनको भी गुरु कहे उनका तो क्या कहना बाकी जय हो गूगल ओर वाटसअप गुरुजनो की हम तो आप सभी से इतना ही कहना चाहते है कि बिना सोचे समझे कोई कार्य ना करे अच्छा है वो ही आपके हित मे तंत्र ओर आध्यात्मिक भक्ति उपासना सिद्धि तंत्र क्रिया एक नंगी तलवार है ओर उस पर चलना ना चलना ये आपकी इच्छा है ओर अच्छा करना बुरा करना आपके ऊपर है भुगतान यही करके जाना है भुगत कर या भुगता कर यही सच है नही किया तो कर के देखो साधक पर जिन शक्तियो की कृपा होती है वो शक्तियां उसके ओर उसके परिवार की उसको मानने वालो को जीवन भर रक्षा करती है पर उसमे भी गुरु इष्ट योग क्रिया उतम कार्य करती है यही आध्यात्मिक का पुणे सत्य है गृहस्थ साधक को शाक्त को शक्ति से उर्जा मिलती है अब उस उर्जा का प्रयोग कहाँ करता है ये शाक्त ही अच्छी तरह कर सकता है पर नारी से दुर बुरे विचारो से दुर इन सभी को अपनो से दुर करने यही साधक की निशानी है बाकी जैसा आपको समझ मे आये करे आगे माँ बाबा की इच्छा ओर कृपा आज बस इतना ही नादान बालक की कलम से ॐ नमो सिद्धाये,,

जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश
🌹🙏🏻🌹

No comments:

Post a Comment

#तंत्र #मंत्र #यंत्र #tantra #mantra #Yantra
यदि आपको वेब्सायट या ब्लॉग बनवानी हो तो हमें WhatsApp 9829026579 करे, आपको हमारी पोस्ट पसंद आई उसके लिए ओर ब्लाँग पर विजिट के लिए धन्यवाद, जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश 🙏🏻🌹

नवरात्रि मे कब से है ओर क्या करे नवरात्रि मे

मित्रो 25 मार्च से यानी चैत्र नवरात्रि के दिन से हिंदी का नव वर्ष शुरू होने जा रहा है हिंदू यानि सत्य सनातन धर्म नववर्ष के पहले दिन को नव स...

DMCA.com Protection Status