Sunday, July 12, 2015

आत्मा क्या है

आत्मा क्या है? इस पर कई विद्वानों ने अपनी राय व्यक्त की है, लेकिन यह प्रश्न आज भी अपनी जगह बरकरार है। श्रीकृष्ण के अनुसार, आत्मा भगवान का ही एक अंश है। ठीक उसी प्रकार से जैसे एक दीपक की ज्योति से दूसरे दीपक का जलना।
इससे दीपक की रोशनी को कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन दूसरा दीपक प्रज्वलित हो जाता है और उसकी अग्नि में भी वही गुण होते हैं।
कहा जाता है कि आत्मा अपने साथ पूर्व जन्मों के संस्कार भी लाती है। संस्कारों का यह प्रभाव उसके कर्मों पर भी दिखाई देता है और वैसा ही उसे फल भी मिलता है।
हम नहीं जानते कि हमारी आत्मा कितनी पुरानी है या इसका उद्भव कब हुआ, लेकिन शरीर की कुछ आदतें, मन के सोचने का ढंग और जिंदगी के बारे में नजरिया - ये सब साबित करते हैं कि आप पुरानी आत्मा हैं या नई। जानिए ऐसी ही कुछ बातें, जिनसे मालूम होगा कि आप कितनी पुरानी आत्मा हैं -
1- जीवन को लेकर आपका नजरिया क्या है? क्या आप हर पहलू को बहुत गौर से देखने-समझने की कोशिश करते हैं? अपने साथ दूसरों की जिंदगी का भी पूरा ख्याल रखते हैं। अक्सर जिंदगी के मायने तलाशते हैं और कुछ बड़े संदर्भ में सोचते हैं।
2- आपके नजदीक होने वाली घटनाओं को देखने का आपका अलग दृष्टिकोण है। रिश्तों को सिर्फ औपचारिकता नहीं बल्कि उसका मतलब भी जानने की कोशिश करते हैं। अनजान लोगों की मदद करने में भी आगे रहते हैं।
3- भीड़ और उसमें बैठकर गप्पे मारना आपको अच्छा नहीं लगगा। एकांत में भी आप कुछ बातों पर चिंतन करते हैं। जिंदगी के बारे में सोचते हैं और इसे एक यात्रा की तरह मानते हैं।
4- बचपन में भी आप कई बार ऐसी बातें कह जाते थे कि परिवार के बुजुर्गों को आश्चर्य होता था। बचपन में खेलना-कूदना आपको ज्यादा पसंद नहीं था।
5- दूसरों की मदद करना आपको अच्छा लगता है। खासतौर से पानी पिलाना, जूठे बर्तन उठाना। फिल्मों के बजाय किताबों से ज्यादा लगाव है।
6- नए फैशन और महंगी चीजों में आपकी कोई दिलचस्पी नहीं। जब परिजन आपके लिए नया वस्त्र आदि लाते हैं तो आप कहते हैं - ठीक है, बाद में देख लूंगा। आपके मित्रों की संख्या बहुत ज्यादा नहीं है।
7- भूल से कोई गलती, चाहे वह छोटी सी भी क्यों न हो, आज भी जब आप उसे याद करते हैं तो दुख होता है। खासतौर से किसी व्यक्ति को कष्ट देना, उसकी मजबूरी का फायदा उठाना आपको पसंद नहीं।
8- पुरानी चीजों से बहुत लगाव रखते हैं। स्कूली दिनों की कई किताबें आपने आज भी हिफाजत से संभाल रखी हैं। कोई चीज पुरानी है, इसका ये मतलब नहीं मानते कि वह रद्दी है। उसका महत्व स्वीकार करते हैं।
9- ईश्वर को मानते हैं और आपकी यादों में ऐसी कई घटनाएं हैं जब ईश्वर ने आपकी मदद की। उन बातों को आप आज भी भूले नहीं हैं।
अगर इन 9 बातों में से अधिकांश आप पर लागू होती हैं तो इस बात की अधिक संभावना है कि आप पुरानी आत्मा हैं। आपके तौर-तरीके और संस्कार पुराने हैं।
इसका ये मतलब नहीं कि ये पुराने हो चुके हैं। वक्त के साथ कैलेंडर की तारीखें बदल सकती हैं लेकिन कुछ बातों की अहमियत हमेशा बरकरार रहती है। अच्छाइयां नई हों या पुरानी, उन्हें जीवन में जरूर स्थान देना चाहिए।

No comments:

Post a Comment

#तंत्र #मंत्र #यंत्र #tantra #mantra #Yantra
यदि आपको वेब्सायट या ब्लॉग बनवानी हो तो हमें WhatsApp 9829026579 करे, आपको हमारी पोस्ट पसंद आई उसके लिए ओर ब्लाँग पर विजिट के लिए धन्यवाद, जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश 🙏🏻🌹

बाबा हनुमान जी चालीसा

श्री हनुमान चालीसा हिंदी में अनुवाद सहित  ॐ हं हनमंते रूद्रात्मकाय हुं फट्  इस मंत्र का चालीसा शुरू करने ओर पुणेयता पर जपना चाहिए,   दोहा श्...

DMCA.com Protection Status