Friday, June 26, 2015

घर मे धन की बरक्कत के लिये टोटका

घर मे धन की बरक्कत के लिये टोटका


सबसे छोटे चलने वाले नोट का एक त्रिकोण पिरामिड बनाकर घर के धन स्थान में रखदीजिये,जब धन की कमी होने लगे तो उस पिरामिड को बायें हाथ में रखकर दाहिने हाथसे उसे ढककर कल्पना कीजिये कि यह पिरामिड घर में धन ला रहा है,कहीं से भी धन काबन्दोबस्त हो जायेगा,लेकिन यह प्रयोग बहुत ही जरूरत में कीजिये।

DHAN KE TOTKA

धन एक गौड साधन है,बिना धन के ज्ञानी व्यक्ति भी बेकार लगता है,बिना धन के किसीप्रकार की शक्ति भी आस्तित्वहीन होती है,आज के युग में जिसे देखो धन की तरफ भागरहा है,और धन के लिये कितने ही गलत काम किये जा रहे है,भाई भाई का दुश्मन बनाबैठा है,बाप बेटे को धन के लिये छोड देता है,पत्नी धन के लिये पति की हत्या करवा देतीहै,आदि तरीके लोग धन के लिये अपना रहे है,अगर धन को ईश्वरीय शक्ति से प्राप्त कियाजाये,तो वह धन अधिक स्थाई और अच्छे कामों में खर्च होने वाला होता है,और जो भीखर्चा किया जाता है वह मानसिक और शारीरिक दोनो प्रकार के सुख देता है,तामसीकारणों से लोगों को लूट खसोट कर प्राप्त किया जाने वाला धन हमेशा बुरे कामों में ही खर्चहोता है,धन तो खर्च होता ही है,लेकिन हमेशा के लिये दुखदायी भी हो जाता है। सहीतरीके से और ईमानदारी से धन कमाने के लिये ईश्वरीय शक्ति की जरूरत पडतीहै,ईश्वरीय शक्ति को प्राप्त करने के लिये ईश्वर में आस्था बनानी पडती है,और आस्थाबनाने के लिये नियमित रूप से उपाय करने पडते है,नियमित रूप से उपाय करने के लियेअपने को प्रयासरत रखना पडता है। आइये आपको कुछ सहज में ही ईश्वरीय शक्तियों सेधन प्राप्त करने के तरीके बता देता हूँ,इस प्रकार से प्राप्त किये जाने वाले धन को प्रयोगकरने के बाद आपको कितनी शांति और समृद्धि मिलती है,आपको खुद को पता चलजायेगा। प्रयास के लिये तीन बातों का ख्याल रखना भी जरूरी है कि इन्सान को तीनतरह का प्रयास सदैव जारी रखना चाहिये,एक तो अपनी मानवीय शक्ति को सहेज कररखना,दूसरे जो भी भौतिक साधन अपने पास है,उनका प्रयोग करते रहना,और तीसराप्रयास ईश्वर से दैविक शक्ति को प्राप्त करने के बाद उसका प्रयोग करते रहना।

                              
FIRST  TOTKA

आप अपने निवास स्थान में उत्तर-पूर्व दिशा में एक साफ जगह पर स्थान चुन लीजिये,उसस्थान को गंदगी आदि से मुक्त कर लीजिये,फिर एक साफ लकडी का पाटा उस स्थान पररख लीजिये,और एक चमेली के तेल की सीसी,पचास मोमबत्ती सफेद और पचासमोमबत्ती हरी और एक माचिस लाकर रख लीजिये। अपना एक समय चुन लीजिये जिससमय आप जरूर फ्री रहते हों,उस समय में आप घडी मिलाकर ईश्वर से धन प्राप्त करने केउपाय करना शुरु कर दीजिये। पाटे को पानी और किसी साफ कपडे से साफ करिये,एकहरी मोमबत्ती और एक सफेद मोमबत्ती दोनो को चमेली के तेल में डुबोकर नहलालीजिये,दोनो को एक माचिस की तीली जलाकर उनके पैंदे को गर्म करने के बाद एकदूसरे से नौ इंच की दूरी पर बायीं (लेफ्टतरफ हरी मोमबत्ती और दाहिनी (राइटतरफसफेद मोमबत्ती पाटे पर चिपका दीजिये। दुबारा से माचिस की तीली जलाकर पहले हरीमोमबत्ती को और फिर सफेद मोमबत्ती को जला दीजिये,दोनो मोमबत्तिओं को देखकरमानसिक रूप से प्रार्थना कीजिये ष्हे धन के देवता कुबेर ! मुझे धन की अमुक (जिस कामके लिये धन की जरूरत हो उसका नामकाम के लिये जरूरत है,मुझे ईमानदारी से धनको प्राप्त करने में सहायता कीजियेष्,और प्रार्थना करने के बाद मोमबत्ती को जलता हुआछोड कर अपने काम में लग जाइये। दूसरे दिन अगर मोमबत्ती पूरी जल गयी है,तो उसजले हुये मोम को वहीं पर लगा रहने दें,और नही जली है तो वैसी ही रहने दें,दूसरीमोमबत्तियों को पहले दिन की तरह से ले लीजिये,और पहले जली हुयी मोमबत्तियों से एकदूसरी के नजदीक लगाकर जलाकर पहले दिन की तरह से वही प्रार्थना करिये,इस तरह सेधीरे धीरे मोमबत्तिया एक दूसरे की पास आती चलीं जायेगी,जितनी ही मोमबत्तियां पासआती जायेंगी,धन आने का साधन बनता चला जायेगा,और जैसे ही दोनो मोमबत्तियांआपस में सटकर जलेंगी,धन प्राप्त हो जायेगा। जब धन प्राप्त हो जाये तो पास के किसीधार्मिक स्थान पर या पास की किसी बहती नदी में उस मोमबत्तियों के पिघले मोम कोलेजाकर श्रद्धा से रख आइये या बहा दीजिये,जो भी श्रद्धा बने गरीबों को दान करदीजिये,ध्यान रखिये इस प्रकार से प्राप्त धन को किसी प्रकार के गलत काम में मत प्रयोगकरिये,अन्यथा दुबारा से धन नही आयेगा।

      
SECEND TOTKA

दूसरे प्रकार के उपाय में कुछ धन पहले खर्च करना पडता है,इस उपाय के लिये आपको जोभी मुद्रा आपके यहां चलती है आप ले लीजिये जैसे रुपया चलता है तो दस दस के पांचनोट ले लीजिये डालर चलता है तो पांच डालर ले लीजिये आदि। बाजार से पांच नगीनेजैसे गोमेद एमेथिस्ट जेड सुनहला गारनेट ले लीजिये,यह नगीने सस्ते ही आते है,साथ हीबाजार से समुद्री नमक भी लेते आइये। यह उपाय गुरुवार से शुरु करना है,अपने घर मेअन्दर एक ऐसी जगह को देखिये जहां पर लगातार सूर्य की रोशनी कम से कम तीन घंटेरहती हो,एक पोलीथिन के ऊपर पहले पांच नोट रखिये,उनके ऊपर एक एक नगीना रखदीजिये,और उन नगीनो तथा नोटों पर समुद्री नमक पीस कर थोडा थोडा छिडक दीजियेऔर उन्हे सूर्य की रोशनी में लगातार तीन घंटे के लिये छोड दीजिये। तीन घंटे बाद उननोटों और नगीनों को समुद्री नमक को उसी पोलीथीन पर पर साफ कर लीजिये,और उसपोलीथिन वाले नमक को अपने घर के मुख्य दरवाजे पर डाल दीजिये,उन नगीनों औरनोटों को अपने पर्स में रख लीजिये,अगर कोई तुम्हारा जान पहिचान का या कोईरिस्तेदार तुम्हारे पास आता है तो उसे एक नगीना कोई सा भी उसी गुरुवार को यहकहकर दीजिये कि यह नगीना भाग्य बढाने वाला है,और एक नोट उनमें से किसी बच्चेको बिस्कुट लाने के लिये या किसी प्रकार बिल चुकाने के काम में उसी दिन लेलीजिये,दूसरे गुरुवार को दूसरा नगीना किसी को फिर दान कर दीजिये और एक नोटकिसी बच्चे या किसी प्रकार के घरेलू खर्चे में खर्च कर दीजिये,यही क्रम लगातार चारगुरुवार तक करना है,पांचवे गुरुवार को बचा हुआ एक नगीना और नोट अपनी तिजोरीया धन रखने वाले स्थान में रख लीजिये,आपके पास लगातार धन का प्रवाह शुरु होजायेगा,उस धन में से 3 दान करते रहिये,जब तक वह नगीना और नोट आपके पासरहेगा,धन की कमी नही  सकती है।

              
     VYAPAR

अधिकतर मामलों में व्यापार करते हुये धन की कमी होती है,लगातार प्रतिस्पर्धा केकारण लोग व्यवसाय को काटते है,और ग्राहकों को अपनी तरफ आकर्षित करते है,अपनीबिजनिस बढाने के लिये तांत्रिक उपाय करते है,और उन तांत्रिक उपायों को करने के बादखुद तो उल्टा सीधा कमाते है,लेकिन अपने सामने वाले को भी बरबाद करते है तथा कुछदिनों में उनके द्वारा किये गये तांत्रिक उपायों का असर खत्म हो जाने पर दिवालिया बनकर घूमने लगते है। अपने व्यवसाय स्थल से नकारात्मक ऊर्जा को हटाने और ग्राहकीबढाने का तरीका आपको बता रहा हूँइस तरीके को प्रयोग करने के बाद आप खुद हीमहसूस करने लगेंगे 
सोमवार के दिन किसी नगीने बेचने वाले से तीन गारनेट के नग खरीदकर लाइये,औररात को उन्हे किसी साफ कांच के बर्तन में पानी में डुबोकर खुले स्थान में रख दीजिये,उननगों को लगातार नौ दिन तक यानी अगले मंगलवार तक उसी स्थान पर रखा रहनेदीजिये,और मंगलवार की शाम को उन नगीनों को मय उस पानी के उठा लीजिये,बुधवारको उस पानी से नगीनों को अपने व्यवसाय वाले स्थान पर निकाल लीजिये और पानी कोव्यवसाय स्थान के सभी कोनों और अन्धेरी जगह पर कैस काउन्टर और टेबिल ड्रावर केअन्दर छिडक दीजिये,तथा उन नगीनों को (तीनों कोअपनी टेबिल पर सजाकर सामनेरख लीजिये,इस प्रकार से आपके व्यापारिक स्थान की नकारात्मक ऊर्जा बाहर चलीजायेगी,और सकारात्मक ऊर्जा आने लगेगी  नगीनों को सम्भाल कर रखे,जिससे कोईउन्हे ले  जा सके।

No comments:

Post a Comment

#तंत्र #मंत्र #यंत्र #tantra #mantra #Yantra
यदि आपको वेब्सायट या ब्लॉग बनवानी हो तो हमें WhatsApp 9829026579 करे, आपको हमारी पोस्ट पसंद आई उसके लिए ओर ब्लाँग पर विजिट के लिए धन्यवाद, जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश 🙏🏻🌹

गुप्त नवरात्रि कब से है ओर क्या करे

*#गुप्तनवरात्रि_बाइस_जून_दो_हजार_बीस,* *#22/06/2020* *#गुप्तनवरात्रि,,* *#घटस्थापना 22जून ,* #सोमवार देवी माँ नवदुर्गा ओर दसमहाविध...

DMCA.com Protection Status