Saturday, June 20, 2015

ध्यान की प्राथमिक विधि-1

ध्यान की प्राथमिक विधि-1ध्यान की विधियां सैकड़ों हैं लेकिन सबका लक्ष्य एक हैं. ऐसी ही एक ध्यान विधि का उल्लेख मैं यहां कर रहा हूं.

इस ध्यान विधि का कोई नाम नहीं है. ईश्वर और गुऱू की प्रेरणा से यह विधि मुझे प्राप्त हुई है. इसमें कुल छह चरण हैं. हर चरण में एक सूत्र और उससे जुड़ा हुआ एक प्रयोग है. इसमें पहले चरण का उल्लेख मैं यहां कर रहा हूं.
बहुत सोच-विचार और तर्क में पड़ने की जरूरत नहीं है. अगर आप पहले से किसी प्रकार की कोई ध्यान विधि का अभ्यास कर रहे हैं तो भी इस अभ्यास को अपने जीवन में उतार सकते हैं.
सूत्र
मौन रहना और मुस्कुराना.
अभ्यास
थोड़ी देर के लिए कहीं एकांत में और मौन में बैठ जाना और आंखे बंद रखना. अपने मन में चल रहे विचारों को देखना. देखना कि कैसे एक-एक करके विचार आते हैं और गायब हो जाते हैं. तुम्हें कुछ करना नहीं है. विचारों को देखने के लिए कुछ करने की जरूरत भी नहीं होती. अच्छे-बुरे हर तरह के विचार पर मन ही मन मुस्कुराना. विचारों पर कोई प्रतिक्रिया मत करना, सिर्फ मुस्कराना. थोड़ी देर भी इस अवस्था में रहे तो काम बन जाएगा.
थोड़ी ही देर में तुम्हारा शरीर स्थिर और मन शांत हो जाएगा. सांस लयबद्ध हो जाएगी. धीरे-धीरे आंख खोलकर अपने काम में पुनः लग जाओ. अगला चरण फिर कभी बताऊंगा.

No comments:

Post a Comment

#तंत्र #मंत्र #यंत्र #tantra #mantra #Yantra
यदि आपको वेब्सायट या ब्लॉग बनवानी हो तो हमें WhatsApp 9829026579 करे, आपको हमारी पोस्ट पसंद आई उसके लिए ओर ब्लाँग पर विजिट के लिए धन्यवाद, जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश 🙏🏻🌹

साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगेगा कार्तिक पूर्णिमा के दिन , जानें समय और तारीख।

कार्तिक पूर्णिमा 30 नवंबर को है. इस बार की कार्तिक पूर्णिमा बहुत ही खास माना जा रहा है, क्योंकि इस दिन देव दीपावली भी है. वहीं, इस दिन इस सा...

DMCA.com Protection Status