Wednesday, December 18, 2019

शाबर तंत्र साधना का बेसिक ग्यान भाग ग्यारहवाँ

मित्रो अब आते है शाबर मंत्र साधना के नियम ओर बंधन ,जैसा की मित्रो आपने हमारे पिछले दस भागो मे केवल शाबर मंत्रो की भूमिका यानि बेसिक ग्यान ही दिया है अब जप आदि नियम बता रहे है ,मित्रो किसी भी साधक को कोई भी तंत्रिक प्रयोग या तंत्र मंत्र यंत्र की साधना करनी है तो साधना से पुर्व अपने इष्टदेव या इष्टदेवी का स्मरण करना जरूरी है उनसे ये कहे कि जिस मंत्र का मे जाप करना चाहता हुं, उक्त मंत्र का आधिपति देव जो भी है वो उस समय मेरे इष्ट रहे ओर मुझे सफलता प्रदान कराये, ओर साथ मे अपने पूज्य गुरूदेव का आशीर्वाद ले ओर मार्गदर्शन ले कि मुझे किस किस तरह की सावधानियां या नियमो का पालन करना है, नादान बालक की कलम से आज बस इतना बाकी फिर कभी, मित्रो जिस भी मंत्र का आप जाप या तप करते है उस समय आपका अधिपति देव या इष्ट उस मंत्र का देवता होता है यानि जो जाप करो उनको इष्ट ही समझे यही सत्य है,,
दिशा निर्देश, ओर आवश्यक नियम ओर सुझाव,,
गुरूदेव से ग्यान प्राप्त करे,
गुरू से शक्ति दिक्षा अवश्य प्राप्त करे,
बह्मचार्य व्रत का पुणे रुप से पालन करे,
अपने गुरू ओर परमात्मा पर पुणे आस्था ओर श्रद्धा रखे,,
मन ओर शरीर को शुद्ध ओर पवित्र रखे,,
जप शुरू करने से पहले अपनी रक्षा विधी गुरू से प्राप्त करे,,
जप साधना मे असली ओर शुद्ध सामग्री का ही उपयोग करे,
जपकाल मे भोग आदि सामग्री फल, फुल मिठाई आदि शुद्ध ओर ताजा होनी चाहिए,,
साधना काल मे साधक अपने वस्त्र जूठे बर्तन आदि स्वयंम साफ करे,,
साधक साधना काल मे जो सामग्री उपयोग होती है (नैवेध भोग) स्वयंम तैयार करे, ।साधना रात्रि के शांत वातावरण मे करे,,
साधक अनुष्ठान जप के बाद भी नियमित मंत्र जप करता रहे,,
मांस मदिरा सा सेवन ना करे,,
गुरू के सिवा किसी भी अन्य व्यक्ति से साधना सम्बन्धी कोई बात ना करे,,,
साधना के लिये एकांत ओर शुद्ध स्थान का चयन करे,,,
गुरू की छत्रछाया मे ही अनुष्ठान करे,
साफ स्वच्छ, धुले हुये वस्त्रो का ही उपयोग करे या दिगंबर ही रह कर एकांतवास पुणे कर साधना निवृति तक,,
तेल सुगंध, साबुन पाउडर आदि का उपयोग ना करे,
अकेले एकांत मे ही साधना करे,
अपने पास असली धुप का ही का ही प्रयोग करे ओर असली देशी घी का ओर सरसो के तेल का ही अखंड दीपक जलाये,,
साधना के समय जल का लोटा अपने पास रखे,
साधना नियत समय पर ही करे, हमारे ब्लाँग मे जो मंत्र विधान है या आगे जो मंत्र विधान होंगे उसी हिसाब से आपको साधना करनी है पर मित्रो विधी ये रहेगी पर आपके लिये गुरू आग्या ही सर्वश्रेष्ठ होगी, आगे जैसी माँ बाबा की इच्छा ओर कृपा,, जप आदि बहुत ज्यादा  है अगले भाग मे या उसके अगले भाग मे सम्पुणे हो जायेगे उसके बाद शाबर मंत्र विथान पोस्ट होंगे,,,
जय माँ बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश,,,

No comments:

Post a Comment

#तंत्र #मंत्र #यंत्र #tantra #mantra #Yantra
यदि आपको वेब्सायट या ब्लॉग बनवानी हो तो हमें WhatsApp 9829026579 करे, आपको हमारी पोस्ट पसंद आई उसके लिए ओर ब्लाँग पर विजिट के लिए धन्यवाद, जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश 🙏🏻🌹

नवरात्रि मे कब से है ओर क्या करे नवरात्रि मे

मित्रो 25 मार्च से यानी चैत्र नवरात्रि के दिन से हिंदी का नव वर्ष शुरू होने जा रहा है हिंदू यानि सत्य सनातन धर्म नववर्ष के पहले दिन को नव स...

DMCA.com Protection Status