Monday, September 25, 2017

रिश्ता कोई भी हो दिल से बने


सब को अपनी मौज ही अच्छी लगती है चाहे भौतिक चाहे आध्यात्मिक अपनी ले मे चलना सबको अच्छा लगता है पर जहाँ शब्दों मे प्रेम नही बडो मे आदर नही वो मौज या ले किसी काम की नही जहाँ परिवार मे भेद है वो प्रेम प्यार किसी काम का नही भेद अच्छे बूरे मे करो परिवार मे हो तो बात करो ...भेद नही.... अपनी मौज रहना साधु जीवन को दर्शाता है पर भेद करना या ईष्या करना आपको आध्यात्मिक जीवन या भौतिक जीवन से दुर करता है आप सोचते है आपने अच्छा किया पर कभी मनन करना की हमने क्या किया जो कोई दुर चला गया रिश्ता किसी से भी बनाओ पर दिल से बनाए उसमे मजा है.. जो रिश्ते दिमाग से बनते है उनका टूटना लाजिमी है ओर जो दिल से बनते है उनमे आदर ओर प्यार झलकता है पंथ या सीडीयाँ कोई भी हो जो रिश्ता बनाये वो दिल से बनाये दिमाग से तो वैसे भी बिजनेस होता है दिल से रिश्ते बनते है ओर शब्द वो तलवार होते है जो बिना जख्म दिये घायल कर देते है ओर बिना मलहम के जख्मो को भर भी देते है जो भी करो सोच समझकर करो चाहे वो शब्द हो या अपनो के साथ व्यवहार बाकी सब आपके ऊपर है कि आपको किसी मौज मे ओर ले मे चलना है नादान बालक की कलम से जो हमे भी समझ मे नही आया है आपकी समझ मे आया तो शेयर करो नही तो नजरअंदाज करो...

जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश
🌹🙏🏻🙏🏻🙏🏻🌹

No comments:

Post a Comment

#तंत्र #मंत्र #यंत्र #tantra #mantra #Yantra
यदि आपको वेब्सायट या ब्लॉग बनवानी हो तो हमें WhatsApp 9829026579 करे, आपको हमारी पोस्ट पसंद आई उसके लिए ओर ब्लाँग पर विजिट के लिए धन्यवाद, जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश 🙏🏻🌹

नवरात्रि मे कब से है ओर क्या करे नवरात्रि मे

मित्रो 25 मार्च से यानी चैत्र नवरात्रि के दिन से हिंदी का नव वर्ष शुरू होने जा रहा है हिंदू यानि सत्य सनातन धर्म नववर्ष के पहले दिन को नव स...

DMCA.com Protection Status