Thursday, March 19, 2020

नवरात्रि मे कब से है ओर क्या करे नवरात्रि मे

मित्रो 25 मार्च से यानी चैत्र नवरात्रि के दिन से हिंदी का नव वर्ष शुरू होने जा रहा है हिंदू यानि सत्य सनातन धर्म नववर्ष के पहले दिन को नव संवत्सर कहा जाता है ,जिसको विक्रम संवत भी कहकर बुलाते हैं, ये विक्रम संवत 2077 होगा, इसी दिन से नया पंचांग तैयार होता है ,आज भी हम अपने व्रत एवं त्यौहार हिंदू कैलेंडर और हिंदू तिथियों के आधार पर ही मनाते हैं ओर घर में शादी ब्याह से लेकर सभी शुभ कार्यों के लिए हिंदू कैलेंडर या पंचांग देखा जाता है, माना जाता है कि इसी दिन सृष्टि के रचयिता भगवान ब्रह्ना ने सृष्टि की रचना शुरू की थी ,इसलिए इसे हिंदुओं का नया साल माना गया है ,ओर इस दिन से हमारे नववर्ष के शुभारंभ के साथ ही त्योहार ओर पर्वो का समय शुरू हो जाता है, हम यहाँ बात कर रहे नवरात्रि ओर नववर्ष की तो आप सभी को अग्रिम सत्य सनातन हिन्दू नववर्ष की बहुत बहुत शुभकामनाएं ओर चैत्र नवरात्रि की भी बहुत बहुत शुभकामनाएं, मित्रो बहुत कम लोग जानते है कि नवदुर्गा मे नो ओषधियो के भी रुप होते है ओर नवरात्रि ,नववर्ष, गुडी पडवा एक साथ शुरू होगे,
25 मार्च 2020 से तीस अप्रैल तक के त्योहार ओर व्रत औषधि वाले दिन ओर रुप,,
25 मार्च ,बुधवार ,चैत्र नवरात्रि प्रारंभ, गुडी पडवा,प्रथम दिन देवी माँ शैलपुत्री यानी हरड़,
26,मार्च ,गुरुवार द्वितीय दिन देवी माँ बह्मचारिणी यानी ब्राह्मी,
27 ,मार्च ,शुक्रवार: गौरी पूजा, गणगौर ओर तृतीय दिन देवी माँ चंद्रघंटा यानी चन्दुसूर,
28 ,मार्च, शनिवार चतुर्थ देवी माँ कृष्माण्डा यानी पेठा,
29, मार्च ,रविवार पंचम देवी माँ स्कंदमाता यानी अलसी,
30, मार्च, सोमवार ,देवी माँ यमुना छठ पुजा ओर षष्ठम देवी माँ कात्यानी यानी मोडया,
31 ,मार्च, मंगलवार सप्तम देवी माँ कालरात्रि यानी नागदौन,
1 ,अप्रैल, बुधवार अष्टम देवी माँ महागौरी यानी तुलसी,
2 अप्रैल गुरुवार , नवम देवी माँ सिद्धिदात्री यानी शतावरी ओर राम नवमी, स्वामी नारायण जयंती ,
3 अप्रैल, नवरात्रि पुणेिहुति ओर बाबा भैरव पुजा ,
4,अप्रैल ,शनिवार ,कामदा एकादशी
8,अप्रैल ,बुधवार बाबा हनुमान अवतरण दिवस या जन्मदिवस जन्मजयंती , चैत्र पूर्णिमा
13 अप्रैल सोमवार मेष संक्रांति, सोलर न्यू ईयर
18 अप्रैल, शनिवार, वरुथिनी एकादशी
25 अप्रैल, शनिवार ,प्रभु परशुराम जी अवतरण दिवस
26 अप्रैल ,रविवार: अक्षय तृतीया
30 अप्रैल ,गुरुवार, देवी माँ गंगा सप्तमी,
मित्रो नवरात्रि मे नौ दिन तक हवन ओर जप आदि करे आपकी शुद्धि के साथ प्रकृति मे भी शुद्धि रहेगी इससे हवा वातावरण शुद्ध होगा ओर बीमारियां से छुटकारा भी मिलेगा, माँ का रक्तपुष्पो से श्रृंगार करे फिर उनको हवन मे भी काम मे ले ताकि आपको कई समस्याओं से छुटकारा मिले ,पुजा जो चाहे करो पर पुरा मनोभाव ओर मनोयोग से करे तो सफलता अवश्य मिलेगी यही सत्य है,,
आप सभी को अग्रिम हिन्दू नववर्ष ओर नवरात्रि की बहुत बहुत शुभकामनाएं ओर हार्दिक बधाई, माता रानी आप सभी की मनोकामनापूर्ण करे यही माँ बाबा से हमारी प्रार्थना है,, 🌹🙏🏻
जय माँ जय बाबा महाकाल जय श्री राधे कृष्णा अलख आदेश

नवरात्रि मे कब से है ओर क्या करे नवरात्रि मे

मित्रो 25 मार्च से यानी चैत्र नवरात्रि के दिन से हिंदी का नव वर्ष शुरू होने जा रहा है हिंदू यानि सत्य सनातन धर्म नववर्ष के पहले दिन को नव स...

DMCA.com Protection Status